डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने। डाटा एंट्री ऑपरेटर का क्या काम होता है (Data Entry Operator Kaise Bane In Hindi) 2023

Telegram Group (Join Now) Join Now
WhatsApp channel (Join Now) Join Now

डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने, डाटा एंट्री ऑपरेटर का क्या काम होता है, डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए योग्यता, Data Entry Operator Salary, डाटा एंट्री ऑपरेटर क्या होता है, डाटा एंट्री ऑपरेटर जॉब आदि के बारे में जानने के लिए आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

आज के समय में कई लोगों को डाटा एंट्री ऑपरेटर के काम में रुचि बढ़ रही है और लोग इसी काम को कर कर पैसे कमाना चाहते हैं क्योंकि यह काम घर बैठे भी हो सकता है और किसी ऑफिस में भी हो सकता है। इसलिए आज इसके इस आर्टिकल में हम आपको डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने, डाटा एंट्री ऑपरेटर का क्या काम होता है के बारे में पूरी जानकारी देंगे।

इसी के साथ हम आपको डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए योग्यता, डाटा एंट्री ऑपरेटर क्या होता है, डाटा एंट्री ऑपरेटर जॉब कैसे पाएं, Data Entry Operator Course, Data Entry Operator Ki Salary आदि के बारे में भी हिंदी में बताएंगे इसलिए इसके बारे में अच्छे से समझने के लिए हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Content Headings show

डाटा एंट्री क्या होती है (Data Entry Kya Hai Hindi Me)

डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने के बारे में जानने से पहले यह जाने की डाटा एंट्री का काम कंप्यूटर में किया जाता है जिसमें सूचनाऐं, डाटा आदि जैसे पेपर वर्क की कंप्यूटर में एंट्री की जाती है। डाटा एंट्री करने के लिए कंप्यूटर सॉफ्टवेयर, एप्स आदि की जरूरत होती है तथा इनकी मदद से कंप्यूटर में जरूरी फाइल, इन्फॉर्मेशन आदि को सुरक्षित स्टोर किया जाता है इसे है डाटा एंट्री कहा जाता है।

डाटा एंट्री का काम करने के लिए MS Word, MS Office, MS PowerPoint, MS Excel, Google Docs आदि की जरूरत होती है और डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए इन सब का नॉलेज होना भी बहुत जरूरी है। डाटा एंट्री ऑपरेटर का काम ऑफलाइन पर किया जाता है और ऑनलाइन भी किया जाता है तथा आज कल कई कंपनियां है जिन्हें डाटा एंट्री ऑपरेटर की जरूरत है।

डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने। डाटा एंट्री ऑपरेटर का क्या काम होता है (Data Entry Operator Kaise Bane In Hindi)

डाटा एंट्री ऑपरेटर क्या होता है (Data Entry Operator Kya Hota Hai In Hindi)

डाटा एंट्री का काम करने वाले को डाटा एंट्री ऑपरेटर कहा जाता है तथा एक डाटा एंट्री ऑपरेटर कंप्यूटर में दिए गए डेटा को स्टोर करने का कार्य करता है। डाटा एंट्री ऑपरेटर के पास कंप्यूटर की अच्छा नॉलेज होना जरूरी है और उसकी टाइपिंग स्पीड, एमएस वर्ड आदि जैसे सॉफ्टवेयर एवं एप्स की अच्छी जानकारी होना भी जरूरी है। डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए आप डाटा एंट्री कोर्स भी कर सकते हैं और डाटा एंट्री ऑपरेटर बन सकते है।

Also Read: जानिए ग्रेजुएशन के बाद सीए कैसे बने

डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बनते है (Data Entry Operator Kaise Bane In Hindi)

अगर आपको भी डाटा एंट्री के क्षेत्र में रुचि है और आपके मन में भी यह सवाल है कि डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने तो इस सवाल का जवाब आपको निम्नलिखित को पढ़ने के बाद मिल जाएगा।

  • सबसे पहले अपने 12वीं कक्षा को किसी भी विषय जैसे आर्ट्स, साइंस आदि में अच्छे मार्क्स के साथ पास करें‌।
  • डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए ग्रेजुएशन की जरूरत होती है इसलिए आपको किसी भी विषय में बैचलर डिग्री कंप्लीट करना जरूरी होता है आप चाहे तो इसके बाद मास्टर डिग्री भी कर सकते है।
  • इसके बाद आपको किसी अच्छे इंस्टीट्यूट से कंप्यूटर कोर्स करना होगा और इस कोर्स में आपको कंप्यूटर से जुड़ा हर नॉलेज लेना होगा।
  • आपको MS Word, MS Excel, Google Docs आदि जैसे एप्स या सॉफ्टवेयर उनकी मदद से डाटा एंट्री की जाती है उनके बारे में सीखना होगा।
  • डाटा एंट्री ऑपरेटर की सबसे जरूरी स्किल होती है उसकी टाइपिंग स्पीड। इसलिए आपको अपनी टाइपिंग स्पीड पर भी ध्यान देना होगा और अपनी टाइपिंग स्पीड को बढ़ाना होगा।
  • जब आप डाटा एंट्री ऑपरेटर कोर्स कंप्लीट कर लेते है तो आपको डाटा एंट्री ऑपरेटर की जॉब मिल सकती है।
  • कई कंपनी, इंस्टीट्यूट, ऑर्गनाइजेशन आदि डाटा एंट्री ऑपरेटर की भर्ती निकलते है तो आपको इस जॉब के लिए अप्लाई करना चाहिए।
  • जब आपकी जॉब लग जाती है तो डाटा एंट्री का काम कर सकते है और इस क्षेत्र में आगे बढ़ सकते है।

Data Entry Operator Kaise Bane –

डाटा एंट्री ऑपरेटर का क्या काम होता है (Data Entry Operator Ka Kya Kaam Hota Hai)

किसी कंपनी के डाटा एंट्री का काम बहुत महत्वपूर्ण होता है क्योंकि कंपनी के जरूरी इन्फॉर्मेशन आदि को स्टोर करने का काम होता है। डाटा एंट्री ऑपरेटर को डाटा एंट्री से जुड़े कई काम करने पड़ते है। डाटा एंट्री ऑपरेटर को फॉर्म भरने, ऑनलाइन सर्वे आदि के काम भी करने होते है।

इमेज एडिटिंग, डाटा एंट्री स्टोर, ईमेल प्रोसेस का काम, ऑडियो टू टेक्स्ट जैसे ट्रांसक्रिप्शन, वीडियो कैप्शन, फाइल एडिटिंग, फाइल इन्फॉर्मेशन एंट्री का काम एक डाटा एंट्री ऑपरेटर को करना होता हैं इसके अलावा भी डाटा एंट्री के कई काम के तरीके होते है।

डाटा एंट्री ऑपरेटर को ज्यादा काम कम समय में करना होता है इसलिए डाटा एंट्री ऑपरेटर की टाइपिंग स्पीड ज्यादा होनी चाहिए। हिंदी, इंग्लिश और अन्य भाषा में भी डाटा एंट्री का काम करना होता है और ईमेल भेजना, ईमेल मैनेज करना, एडिटिंग आदि का काम भी डाटा एंट्री ऑपरेटर का होता है।

डाटा एंट्री ऑपरेटर फाइलों को स्कैन करके डाटा एंट्री करता है, डाटा एंट्री के काम में स्पैलिंग जांचने का काम भी होता है। डाटा एंट्री का काम करने के लिए डाटा एंट्री का नॉलेज होने के साथ आपको नई टेक्नोलॉजी, टाइपिंग स्किल्स, कम्युनिकेशन स्किल्स आदि का भी ज्ञान होना बहुत जरूरी है। डाटा एंट्री ऑपरेटर डाटा एंट्री का काम करने के लिए कई कंप्यूटर सॉफ्टवेयर, ऐप्स, वेबसाइट आदि जो डाटा एंट्री करने में उपयोगी होते हैं उनकी हेल्प लेते है।

डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए क्या योग्यता है (Data Entry Operator Banne Ke Liye Kya Karna Padega )

कई लोग जो डाटा एंट्री ऑपरेटर बनना चाहते है वो सोचते है कि Data Entry Operator Ke Liye Kya Karna Padta Hai तो आपको इसके बारे में भी जानकारी देंगे। डाटा एंट्री ऑपरेटर योग्यता के बारे में जानने के लिए निम्नलिखित को ध्यान से पढे।

डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए एजुकेशन

  • डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए 12वीं पास होना अनिवार्य है।
  • किसी विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करना जरूरी होता है आप बीएससी, बीए, बीकॉम आदि में से किसी भी विषय में डिग्री कर सकते है।
  • आपके पास कंप्यूटर कोर्स करने का सर्टिफिकेट होना जरूरी है और आपको डाटा एंट्री ऑपरेटर कोर्स का भी पूरा नॉलेज होना आवश्यक है।

डाटा एंट्री ऑपरेटर के लिए आवश्यक योग्यता

  • डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए आपको कंप्यूटर का अच्छा ज्ञान होना चाहिए।
  • सबसे जरूरी आपके पास कंप्यूटर कोर्स सर्टिफिकेट होना चाहिए।
  • आपको हिंदी के अंग्रेजी दोनों भाषाओं का अच्छा नॉलेज होना चाहिए क्योंकि डाटा एंट्री में ज्यादातर इन्हीं भाषाओं का उपयोग होता है।
  • इसी के साथ हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में आपकी टाइपिंग स्पीड तेज होना जरूरी है इसलिए अपनी टाइपिंग स्पीड बढ़ाने का प्रयास करते रहें।
  • एमएस वर्ड, एमएस एक्सेल, एमएस पॉवरपॉइंट, एमएस ऑफिस आदि की अच्छी खासी जानकारी होना बेहद जरूरी है।
  • इन सब के आलावा अच्छी कम्युनिकेशन स्किल्स होनी चाहिए और इंटरनेट, टेक्नोलोजी आदि के बारे में जानकारी होनी चाहिए।

डाटा एंट्री ऑपरेटर जॉब (Data Entry Jobs)

डाटा एंट्री कोर्स और कंप्यूटर कोर्स सीखने के बाद आप डाटा एंट्री ऑपरेटर की जॉब के लिए अप्लाई कर सकते है कर डाटा एंट्री के क्षेत्र में अपना कैरियर बना सकते है। डाटा एंट्री ऑपरेटर के तौर पर कई कार्य करने होते है और डाटा एंट्री में कई अलग पोस्ट होती है जो कुछ इस प्रकार है।

  • Data Entry Operator
  • Computer Operator
  • MS Word Specialist
  • MS Excel Specialist
  • Typist
  • Back Office Assistant
  • Data Entry Analyst
  • Back Office Executive
  • Transcriptionist
  • Medical Transcriptionist
  • Content Writer
  • File Editor
  • Catalogue Data Entry Operator
  • Office Assistant
  • Data Entry Clerk

Also Read: डर्मेटोलॉजिस्ट क्या होता है और कैसे बने 2023 में

डाटा एंट्री ऑपरेटर सैलरी (Data Entry Operator Salary Per Month)

डाटा एंट्री ऑपरेटर को उसके योग्यता और अनुभव के आधार पर सैलरी दी जाती है लेकिन डाटा एंट्री ऑपरेटर की एवरेज सैलरी के बारे में बताएं तो 10 हजार रुपए से 20 हजार रुपए तक होती है और डाटा एंट्री के क्षेत्र में एक्सपीरिएंस बढ़ने पर आपकी सैलरी बढ़ा भी दी जाती है। अगर आप किसी सरकारी विभाग या इंस्टीट्यूट में डाटा एंट्री ऑपरेटर के पोस्ट पर काम करते है तो आपको 20 हजार या ज्यादा की भी सैलरी प्रदान की जा सकती है।

वहीं अगर किसी प्राइवेट जॉब मिलने पर 15 हजार रुपए तो आसानी से एक डाटा एंट्री ऑपरेटर कमा लेता है। अगर आप डाटा एंट्री ऑपरेटर का काम कर रहे है और अपनी सैलरी बढ़ाना चाहते है तो अपना नॉलेज, काम और अनुभव बढ़ाएं तब आपको इससे अच्छी सैलरी भी मिलेगी।

डाटा एंट्री जॉब कैसे पाएं (Data Entry Job Kaise Milegi)

अगर आप डाटा एंट्री ऑपरेटर की जॉब पाना चाहते है तो आपके अंदर वो योग्यताएं होनी चाहिए जो एक डाटा एंट्री ऑपरेटर में होती है। डाटा एंट्री ऑपरेटर जॉब पाने के लिए आपको निम्नलिखित तरीको का उपयोग करना चाहिए।

  • सबसे पहले अपनी 12वीं तक की पढ़ाई पूरी करनी चाहिए और उसके बाद आपको ग्रेजुएशन कंप्लीट करनी होगी।
  • फिर आपको कंप्यूटर कोर्स और डाटा एंट्री ऑपरेटर कोर्स कर लेना चाहिए और उससे जुड़ी हर जानकारी का नॉलेज प्राप्त कर लेना चाहिए।
  • उसके बाद आपको डाटा एंट्री ऑपरेटर की जॉब के लिए आवेदन कर देना चाहिए इसके लिए आप ऑफलाइन या ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए आप ऑनलाइन जॉब पोर्टल जैसे Indeed, Naukri, Monster, LinkedIn Job आदि की सहायता ले सकते हैं।
  • आप ऑनलाइन जॉब पाने के लिए फ्रीलांस वेबसाइट्स पर जा सकते है Freelancer, Fiverr, UpWork, Toptal आदि जैसी वेबसाइट पर आपको डाटा एंट्री का काम मिल जाएगा।

डाटा एंट्री कैसे सीखें (How To Learn Data Entry In Hindi)

अब तक आप जान चुके होंगे कि डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने तो अब आप डाटा एंट्री सीखने के बारे में जानेंगे। डाटा एंट्री सीखने के लिए आपको कई महीनों तक सीखना पड़ता है और प्रैक्टिस करनी होती है। डाटा एंट्री सीखने के लिए आप किसी संस्थान से डाटा एंट्री कोर्स कर सकते है और वहां से डाटा एंट्री से जुड़ी हर जानकारी और नॉलेज सीख सकते है।

अगर आप घर बैठे सोच रहे है कि डाटा एंट्री कैसे सीखें तो इसका भी जवाब हमारे पास है। आप डाटा एंट्री सीखने के लिए यूट्यूब वीडियो देख सकते है और ऑनलाइन टीचिंग प्लेटफॉर्म पर ऑनलाइन कोर्स भी कर सकते है। इसके बाद आपको इसकी प्रैक्टिस करनी चाहिए ताकि आपकी स्किल्स में सुधार आए और अगर आप इसमें अच्छे हो जाएंगे तो आपको कहीं भी डाटा एंट्री ऑपरेटर की जॉब आसानी से मिल जाएगी वो भी अच्छी सैलरी के साथ।

FAQs – डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने, डाटा एंट्री ऑपरेटर का क्या काम होता है।

यहां डेटा एंट्री ऑपरेटर से संबंधित कुछ अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न दिए गए हैं।

#1 डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए हमें क्या सीखना पड़ता है?

अगर आप डाटा एंट्री ऑपरेटर बनना चाहते है तो आपको कंप्यूटर के बारे में नॉलेज होनी चाहिए और डाटा एंट्री कोर्स सीखना चाहिए। इसी के साथ हिंदी और इंग्लिश दोनों का बेसिक नॉलेज, इन दोनों भाषाओं में तेज टाइपिंग स्पीड, टेक्नोलॉजी और इंटरनेट से जुड़ा ज्ञान आदि सीखना जरूरी होता है।

#2 डाटा एंट्री ऑपरेटर का कोर्स कितने महीने का होता है?

डाटा एंट्री ऑपरेटर का कोर्स अलग-अलग समय का होता है अगर आप बेसिक डाटा एंट्री स्किल सीखना चाहते हैं तो आप 2 से 3 महीनों में सीख सकते हैं वहीं अगर आप डाटा एंट्री में अच्छा और ज्यादा नॉलेज सीखना चाहते हैं और स्पेशलिस्ट बनना चाहते हैं तो आपको इससे ज्यादा समय लगेगा। 

#3 12वीं के बाद डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने?

सबसे पहले तो 12वीं कक्षा अच्छे मार्क्स के साथ पास करके अपनी पढ़ाई कंप्लीट करें और उसके बाद आप डाटा एंट्री ऑपरेटर कोर्स, कंप्यूटर कोर्स आदि करना चाहिए और साथ ही साथ टाइपिंग स्पीड बढ़ाने की प्रैक्टिस भी करते रहना चाहिए क्योंकि ज्यादातर कंपनी स्पीड से टाइप करने वाले डाटा एंट्री ऑपरेटर को ज्यादा समय तक जॉब पर रखती है। इसके बाद आप डाटा एंट्री ऑपरेटर जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं और डाटा एंट्री ऑपरेटर बन सकते हैं।

#4 डाटा एंट्री को हिंदी में क्या बोलते हैं?

डाटा एंट्री को हिंदी में “आंकड़े प्रविष्टि” कहा जाता है और डाटा एंट्री के काम में कोई महत्वपूर्ण सूचनाएं, जरूरी डाटा, फाइल्स आदि को कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर और ऐप की मदद से सुरक्षित रूप से स्टोर करने का काम किया जाता है।

#5 घर पर डाटा एंट्री कैसे सीखे?

अगर आप घर बैठे डाटा एंट्री सीखना चाहते हैं और डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने की सोच रहे हैं तो आपको डाटा एंट्री कोर्स सीखने के लिए ऑनलाइन कोर्स का सहायता लेनी होगी या फिर आप डाटा एंट्री सीखने के वीडियो ट्यूटोरियल देख सकते हैं और इसके बाद डाटा एंट्री की प्रैक्टिस करने के लिए डाटा एंट्री प्रैक्टिस ऐप पर कर सकते हैं और इस तरह घर पर डाटा एंट्री सीख सकते हैं।

निष्कर्ष – Data Entry Operator Kaise Bane

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने, एंट्री ऑपरेटर क्या काम करता है के बारे में हिंदी में पूरी जानकारी दी है और इसी के साथ डाटा एंट्री क्या है, डाटा एंट्री कैसे सीखें, डाटा एंट्री ऑपरेटर जॉब, डाटा एंट्री ऑपरेटर सैलरी आदि के बारे में भी विस्तार से समझाया गया है।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल Data Entry Operator Kaise Bane अच्छा लगा ही तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी शेयर जरूर करें ताकि वो भी इसके बारे में जान सके। इस आर्टिकल से संबंधित कोई सवाल आपके मन में है तो हमसे जरूर पूछें।

Telegram Group (Join Now) Join Now
WhatsApp channel (Join Now) Join Now

Leave a Comment