जानिए ग्रेजुएशन के बाद सीए कैसे बने (Graduation Ke Baad CA Kaise Bane)

Telegram Group (Join Now) Join Now
WhatsApp channel (Join Now) Join Now

सीए क्या होता है, सीए बनने की योग्यता, सीए कैसे बने, How To Become CA After Graduation, सीए की तैयारी कैसे करें, सीए की सैलरी, सीए एग्जाम सिलेबस आदि के बारे में हिन्दी में पूरा पढ़ें।

जो स्टूडेंट्स 12वीं कक्षा में कॉमर्स की पढ़ाई करते हैं और बाद में इसे विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री करते हैं तो उनके मन में सवाल रहता है कि Graduation Ke Baad CA Kaise Bane इस सवाल का जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगा इसलिए हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

इस आर्टिकल में हम आपको ग्रेजुएशन के बाद सीए कैसे बने के बारे तो बताएंगे और साथ में सीए क्या होता है, सीए की सैलरी, सीए की तैयारी कैसे करें, Graduation Ke Baad CA Ki Taiyari Kaise Kare, सीए कोर्स डिटेल्स आदि के बारे में भी पूरी जानकारी हिंदी में प्रदान करेंगे।

Content Headings show

सीए क्या होता है (CA Kya Hota Hai)

अगर आप सीए बनना चाहते हैं इसलिए पहले यह जानने की सीए क्या है तो आपको बता दें कि सीए ऐसा व्यक्ति होता है जो फाइनेंसियल, अकाउंट, टैक्स एवं अन्य वित्तीय कार्यों में अपना योगदान देता है और इन सब को अच्छे तरीके से मैनेज करता है। सीए एक वित्तीय सलाहकार का भी काम करता है जो लोगों को टैक्स, बिजनेस फाइनेंस, अकाउंट्स, बैंकिंग आदि जैसे फाइनेंसियल एक्टिविटी में एडवाइस देता है और उनकी ऐसे कामों में मदद करता है।

CA Full Form “Chartered Accountant” होता है और सीए का फुल फॉर्म हिंदी में “चार्टेड अकाउंटेंट” होता है। सीए के पास कई स्किल्स जैसे एनालिटिकल स्किल्स, टेक्निकल स्किल्स एवं अन्य फाइनेंस और अकाउंट से संबंधित अच्छा नॉलेज होता है। एक सफल  सीए के पास टीम वर्क करने की और अकाउंट मैनेज करने की स्किल होना बेहद जरूरी है।

Graduation Ke Baad CA Kaise Bane –

सीए बनने के लिए योग्यता (CA Eligibility In Hindi)

सीए बनने के लिए आपके अंदर कई योग्यताएं होना जरूरी है और ग्रेजुएशन के बाद सीए बनने के लिए योग्यता कुछ इस प्रकार होनी चाहिए।

  • कॉमर्स विषय से जुड़े स्टूडेंट्स के पास इस विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।
  • कॉमर्स बैचलर डिग्री में आपके कम से कम 55% मार्क्स होना अनिवार्य है यदि इससे ज्यादा है तो यह आपके लिए अच्छा है।
  • आपके पास अकाउंटिंग,ऑडिटिंग, बैंकिंग, फाइनेंस आदि विषयों का अच्छा नॉलेज होना चाहिए।
  • अगर आप कॉमर्स सब्जेक्ट से ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट नहीं है और साइंस, आर्ट्स आदि विषयों से है तो आपको कम से कम 60% मार्क्स से पास होना आवश्यक है।
  • ग्रेजुएशन के बाद सीए का कोर्स करने के लिए 3 साल का टाइम लगता है।
  • इस कोर्स में रजिस्टर होने के बाद आगे के 9 महिने बाद आपको आईपीसीसी एग्जाम देना पड़ेगा।
  • इसके बाद आपको ढाई से तीन साल की आर्टिकलशिप कंप्लीट करनी पड़ेगी।
  • आपको सीएस यानी कंपनी सेक्रेटरी एग्जाम इंटरमीडिएट परीक्षा क्लियर करनी होगी या फिर सीडब्ल्यूई इंटरमीडिएट एग्जाम क्लियर करना होगा।

Also Read: डर्मेटोलॉजिस्ट क्या होता है और कैसे बने 2023 में

ग्रेजुएशन के बाद सीए कोर्स (CA Course Details After Graduation)

सीए बनने के लिए आपको आईपीसीसी एक्जाम क्लियर करना होता है और ग्रेजुएशन के बाद कोई भी स्टूडेंट्स इस परीक्षा में शामिल हो सकता है। अगर कोई स्टूडेंट आईपीसीसी में प्रवेश करना चाहता है तो ग्रेजुएशन डिग्री में उसके कम से कम 55% मार्क्स होने चाहिए तथा अन्य विषय में ग्रेजुएट छात्रों को 60% मार्क्स लाना अनिवार्य है।

ग्रेजुएशन के बाद सीए का कोर्स करने में 3 साल का समय लगता है इसमें रजिस्टर्ड होने पर अगले 9 महीने के बाद आप आईपीसीसी का एग्जाम दे सकते हैं। इसके बाद सीए बनने के लिए स्टूडेंट्स को 2.5 साल से 3 साल की आर्टिकलशिप कंप्लीट करनी पड़ेगी। इसके बाद आपको सीए की पढ़ाई करनी होती है तथा सीए की अच्छी तैयारी के बाद आप एक सफल सीए बन जाएंगे।

सीए कोर्स की फीस (CA Course Fees After Graduation)

सीए कोर्स फीस कई चीजों पर निर्भर करती हैं जैसे आप सीए की कोचिंग कहां से करते है, आपकी किताबों की प्राइस, सिलेबस फीस एवं रजिस्ट्रेशन जैसी आदि पर आपके कितना खर्चा आता है। आपको CA Course Fees After Graduation के बारे में बताएं तो आपको इसके लिए 20 हजार रुपए से 30 हजार रुपए तक देने होते है और कोचिंग आदि किसी अच्छे इंस्टीट्यूट से करते है तो इससे ज्यादा भी फीस लगती है।

जानिए ग्रेजुएशन के बाद सीए कैसे बने (Graduation Ke Baad CA Kaise Bane)

ग्रेजुएशन के बाद सीए कैसे बने (How To Become CA After Graduation)

कई लोगों को ग्रेजुएशन करने के बाद सवाल रहता है कि Graduation Ke Baad CA Kaise Bane तो चिंता मत कीजिए आप सीए बन सकते है लेकिन सीए बनने का सपना साकार करने के लिए आपको दिन रात सीए एग्जाम की तैयारी करनी पड़ेगी तथा इसके बारे में विस्तार से जानकारी जानने के लिए इसे ध्यान से पढ़ें।

  • अगर कोई स्टूडेंट 12वीं के बाद सीए बनना चाहता है तो उसे सीपीटी का एग्जाम पास करना होता है जबकि ग्रेजुएट के लिए ऐसा नहीं है।
  • ग्रेजुएशन के बाद सीए बनने के लिए आपको सीपीटी एग्जाम नहीं देना होता है क्योंकि इसमें छूट के लिए आपको ग्रेजुएशन डिग्री काफी होती है।
  • इसके बाद आपको सीए इंटरमीडिएट का एग्जाम देना होता है।
  • सीए बनने के लिए आपको आईपीसीसी की परीक्षा के लिए आवेदन करना होता है और उसके बाद आईटी की ट्रेनिंग दी जाती है।
  • सीए बनने के लिए आपको 9 महिने की आर्टिकलशिप ट्रेंनिग भी प्रदान की जाती है।
  • आईपीसीसी एग्जाम के बाद सीए का फाइनल एग्जाम देना होता है।
  • सीए फाइनल एग्जाम में अगर कोई पास कर लेता है तो उसे सीए कहा जाता है और इस तरह आप ग्रेजुएशन के बाद सीए बन जाएंगे।

सीए एग्जाम सिलेबस (CA Exam Syllabus)

सीए एग्जाम में पास होने के लिए सीए एग्जाम सिलेबस को अच्छे से पढ़ना होगा और उन विषयों को सही से डेली रूटीन के आधार पर पढ़ना होगा। अगर आप सीए एग्जाम सिलेबस के बारे में जानना चाहते है तो निम्नलिखित को ध्यान से पढ़ें।

सीए फाउंडेशन सिलेबस (CA Foundation Syllabus)

  • Principles and Practice of Accounting
  • Business Mathematics and Logical Reasoning and Statistics
  • Business Knowledge and Commercial Knowledge
  • Business Economics
  • Business Law and Business Corresponding and Reporting

सीए आईपीसीसी एग्जाम सिलेबस (CA IPCC Exam Syllabus)

  • Accounting Knowledge
  • Taxation
  • Cost Accounting and Financial Management
  • Business Ethics, Business Laws and Communication
  • Advanced Accounting
  • Enterprise Information System, Strategic Management
  • Auditing and Assurance Knowledge

सीए फाइनल एग्जाम सिलेबस (CA Final Exam Syllabus)

  • Advanced Auditing, Professional Ethics
  • Financial Reporting
  • Strategic Financial Management
  • Economics Laws, Corporate Laws
  • Tax Laws and International Taxation Knowledge
  • Indirect Tax Laws
  • Electives
  • Strategic Cost Management

सीए कैरियर ऑप्शन्स (CA Career Opportunities)

सीए कोर्स के बाद आपके पास कई जगह कैरियर ऑप्शन होते है और आप इसमें सीए बनकर आगे बढ़ सकते है। सीए बनने के बाद आप निम्नलिखित क्षेत्रों में अपना कैरियर बना सकते है।

  • CA In A Multinational Company
  • Internal Auditor
  • Tax Auditor
  • Account Consultant
  • Tax Consultant
  • Financial Manager
  • Company Assets Manager
  • Tax Specialist
  • Cost Accountant
  • Investment Banker
  • Researcher
  • Business Analyst
  • Finance Director
  • Finance Controller
  • Chief Accountant
  • Chief Internal Auditor
  • Tax Manager
  • Account Manager
  • Assistant Account Manager
  • Account Executive
  • Senior Account Executive
  • Senior Accountant
  • Account Analyst
  • Financial Analyst

इसके अलावा आप कई फाइनेंस, अकाउंट्स, बैंकिंग, टैक्स आदि से संबंधित जॉब पा सकते हैं और इन क्षेत्रों में सीए बनकर अपने कैरियर का निर्माण कर सकते हैं।

Also Read: 2023 में लोअर पीसीएस की तैयारी कैसे करे

सीए की सैलरी कितनी होती है (CA Salary In India)

CA Salary In India Per Month के बारे में बताएं तो यह आपके एक्सपीरियंस और स्किल्स पर निर्भर करती है क्योंकि शुरुआत में एक सीए को अनुभवी सीए से कम सैलरी दी जाती है। एक सीए की शुरुआती सैलरी 58 हजार से 60 हजार रुपए के बीच होती हैं। सीए बनने के बाद कम से कम दी जाने वाली सैलरी 36 हजार रुपए और सीए की एवरेज सैलरी 65 हजार रुपए होती है तथा यह सभी प्रतिमाह सैलरी होती है।

भारत में एक सीए की हर साल 8 लाख से 10 लाख रुपए तक सैलरी होती है तथा सीए की पोस्ट के आधार पर भी सैलरी प्रदान की जाती है जैसे एक अकाउंटेंट को हर साल 25 लाख रुपए, फाइनेंस मैनेजर को 10 लाख रुपए, फाइनेंशियल एनालिस्ट को 6.5 लाख एवं अन्य सीए पोस्ट पर उस पोस्ट के आधार पर सैलरी दी जाती है। विदेशों में बड़ी कंपनियों में काम कर रहे सीए इससे ज्यादा पैसा भी कमाते हैं।

सीए का क्या काम होता है (CA Kya Kaam Karta Hai in Hindi)

एक सीए का काम बहुत ही महत्वपूर्ण होता है और कंपनी आदि के फाइनेंसियल, अकाउंट आदि कार्यों में मदद करता है। आप निम्नलिखित बिंदुओं को ध्यान से पढ़ कर सीए क्या काम करते हैं इसके बारे में आसानी से समझ सकते हैं।

  • कंपनी के फाइनेंसियल एक्टिविटीज को मैनेज करना।
  • कंपनी के बजट आदि का मैनेजमेंट करना एक सीए का काम होता है।
  • हर महीने फाइनेंसियल स्टेटमेंट तैयार करके बताना और हर साल फाइनेंशियल स्टेटमेंट तैयार करना भी सीए का काम होता है।
  • कंपनी के बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए फाइनेंसियल एडवाइस प्रदान करना।
  • अकाउंट रिकॉर्ड को मैनेज करना।
  • क्लाइंट्स, कस्टमर आदि को टैक्स की जानकारी देना।
  • टैक्स प्लानिंग करने पर एडवाइस देना सीए का काम होता है।
  • कंपनी का फाइनेंसियल रिव्यू करना।
  • कंपनी के फाइनेंस को देखकर आने वाले खतरों की जानकारी देना।
  • दिवालियापन एवं फंड की कमी से बचने के लिए एडवाइस देना।
  • क्लाइंट के साथ फाइनेंसियल एडवाइस एवं अन्य कार्यों के लिए कांटेक्ट करना सीए का काम होता है।
  • फाइनेंशियल ऑडिट तैयार करना।
  • लोगों को फाइनेंस से संबंधित सलाह प्रदान करना।
  • अकाउंट मैनेजमेंट की जानकारी तैयार करना।
  • कंपनी में हुए फाइनेंस फ्रॉड आदि का पता लगाना।
  • टैक्स स्पेशलिस्ट, ऑडिटर, फाइनेंस मैनेजर आदि की पोस्ट के कार्य सीए बनने के बाद ही किए जा सकते हैं।
  • एक्सटर्नल ऑडिटिंग और इंटरनल ऑडिटिंग करना भी एक सीए का काम होता है और इसके अलावा सीए फाइनेंस से संबंधित सभी कार्यों में अपनी भागीदारी निभाता है इसलिए सीए एक महत्वपूर्ण नौकरी मानी जाती हैं।

FAQs – Graduation Ke Baad CA Kaise Bane

नीचे सीए से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न दिए गए हैं:

#1 भारत में सीए की एक महीने की सैलरी कितनी होती है?

सीए बनने के बाद शुरुआती सैलरी कम दी जाती है लेकिन इस क्षेत्र में एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ सीए की सैलरी भी बढ़ाई जाती है। सीए की एवरेज सैलेरी की बात करें तो भारत में एक सीए को हर महीने 60 हजार रुपए से 65 हजार रुपए तक की सैलरी प्रदान की जाती है।

#2 ग्रेजुएशन के बाद सीए कैसे बनें ?

ग्रेजुएशन के बाद सीए बनने के लिए आपको सीए एक्जाम में बैठने के लिए सीपीटी एग्जाम देने की जरूरत नहीं होती है क्योंकि आपकी डिग्री इसके लिए काफी होती है और आपको छूट प्रदान करवाती है तथा आप आईपीसीसी एक्जाम दे सकते हैं।

इसके लिए रजिस्टर करने के बाद आपको 9 महीने के लिए आर्टिकलशिप करने के लिए भेजा जाता है और उसके बाद सीए फाइनल एग्जाम में अच्छे रैंक के साथ एग्जाम क्लियर करने पर आपको सीए बनाया जाता है तथा इसके बाद आप कहीं भी सीए की जॉब कर सकते हैं।

#3 ग्रेजुएशन के बाद सीए कोर्स की फीस कितनी होती है?

ग्रेजुएशन के बाद सीए कोर्स करने पर आपको 20 हजार रुपए से 30 हजार रुपए तक का खर्चा आता है यदि आप सीए की कोचिंग करते हैं तो इससे ज्यादा भी खर्चा आ सकता है

#4 किसी कंपनी में सीए का क्या काम होता है?

कंपनी में काम करने वाले सीए द्वारा कई महत्वपूर्ण काम किए जाते हैं जो कंपनी के बिजनेस को बढ़ाने में सहायता प्रदान करते हैं। कंपनी में सीए का काम ऑडिटिंग, अकाउंट मैनेजमेंट, फाइनेंसियल एडवाइस देना, कंपनी के फाइनेंस के बारे में जानकारी रखना, कंपनी का हर महीने और हर साल अकाउंट और फाइनेंसियल स्टेटमेंट तैयार करना, कंपनी के बजट को मैनेज करना, टैक्स मैनेजमेंट आदि होता है।

#5 सीए बनने की योग्यता क्या है?

अगर आप 12वीं कक्षा के बाद सीए बनना चाहते हैं तो आपको सीपीटी का एग्जाम देना होता है और ग्रेजुएशन के बाद सीए बनने के लिए सीपीटी का एग्जाम देने की जरूरत नहीं होती है जबकि ग्रेजुएशन में अगर आप कॉमर्स विषय से ग्रेजुएट हैं तो कम से कम 55% मार्क्स होना जरूरी है और यदि किसी दूसरे विषय जैसे आर्ट्स, साइंस आदि से तो आपको कम से कम 60% मार्क्स से ग्रेजुएशन कंप्लीट करनी होती है तभी आप आईपीसीसी का एग्जाम देकर सीए बन सकते हैं।

निष्कर्ष – ग्रेजुएशन के बाद सीए कैसे बने (Graduation Ke Baad CA Kaise Bane)

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको Graduation Ke Baad CA Kaise Bane के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में बताई है और साथ ही साथ सीए क्या होता है, सीए बनने की योग्यता, सीए कोर्स डिटेल्स, सीए की सैलरी कितनी है, सीए का क्या काम होता है आदि के बारे में भी विस्तार से समझाया है। मैं आशा करता हूं आपको यह आर्टिकल How To Become CA After Graduation काफी हेल्पफुल लगा है और पसंद आया है। इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर जरूर करें ताकि वो भी इसके बारे में जान सकें। इस आर्टिकल से संबंधित कोई सवाल हो तो आप हमसे पूछ सकते हैं।

Telegram Group (Join Now) Join Now
WhatsApp channel (Join Now) Join Now

Leave a Comment