पीसीएस में कौन कौन सी पोस्ट होती है (Pcs Mein Kon Kon Si Post Hoti Hai)

Telegram Group (Join Now) Join Now
WhatsApp channel (Join Now) Join Now

पीसीएस में कौन कौन सी पोस्ट होती है (Pcs Mein Kon Kon Si Post Hoti Hai) | पीसीएस अधिकारी बनते कैसे हैं | पीसीएस परीक्षा की योग्यताएं क्या है | पीसीएस की परीक्षा कितनी बार दे सकते हैं | पीसीएस अधिकारी की सैलरी कितनी होती है | पीसीएस ऑफीसर का कार्य क्या होता है | पीसीएस की परीक्षा के लिए आयु कितनी होनी चाहिए | पीसीएस की परीक्षा के लिए आयु कितनी होनी चाहिए |

आज के समय में बहुत से लोग ऐसे हैं जिनका सपना एक सरकारी नौकरी करने का होता है, बहुत से लोग सरकारी नौकरी की तलाश में रहते हैं, सरकारी नौकरी में मुख्य रूप से सबसे ऊपर यूपीएससी होती है।

इसके लिए अधिक से अधिक उम्मीदवार तैयारी करते हैं, परंतु बहुत ही कम उम्मीदवारों का सिलेक्शन हो पता है, जिसकी वजह से कई सारे लोग यूपीएससी की परीक्षा पास नहीं कर पाते और फिर वह यूपीएससी से नीचे पद की नौकरी यानी की पीसीएस की तैयारी करते हैं।

तो यदि आप भी पीसीएस की परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आपको इसके बारे में पूरी जानकारी होना आवश्यक है, साथ ही आपको इस बारे में भी जानकारी होनी आवश्यक है कि पीसीएस में कौन-कौन से पोस्ट होती है।

तो आज के इस आर्टिकल में हम पीसीएस में  कौन-कौन सी पोस्ट होती है इसके बारे में जानेंगे, इसके साथ ही इससे जुड़ी कई अन्य बातों के बारे में भी जानेंगे, इसलिए आज के इस आर्टिकल को बड़े ही ध्यानपूर्वक पढ़े और हमारे साथ अंत तक बन रहे।

पीसीएस में कौन कौन सी पोस्ट होती है (Pcs Mein Kon Kon Si Post Hoti Hai)
Content Headings show

पीसीएस में कौन कौन सी पोस्ट होती है? (Pcs Mein Kon Kon Si Post Hoti Hai)

यदि बात करें पीसीएस की तो पीसीएस एक प्रकार की प्रशासनिक नौकरी होती है, इसके अंतर्गत राज्य सरकार और केंद्र सरकार के विभिन्न पदों पर भर्ती प्रदान की जाती है, पीसीएस में आपको ग्रेड ए और ग्रेड बी के प्रशासनिक अधिकारी के पद पर नौकरी दी जाती है।

इसमें आपको जिला, मंडल, राज्य और उपमंडल लेवल का कार्य सौंपा जाता है‌, तो अब हम पीसीएस के सभी पोस्ट के बारे में जानते हैं जो कि निम्नलिखित है।

  1. जिला खाद्य विपणन अधिकारी (District Food Marketing Officer)
  2. सांख्यिकी अधिकारी (Statistical Officer)
  3. जिला युवा कल्याण एवं प्रदेश विकास दल अधिकारी (District Youth Welfare And pradesh Vikas Dal Officer)
  4. वाणिज्यिक कर अधिकारी (Commercial Tax Officer)
  5. जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी (District Backward Class Welfare Officer)
  6. जिला विकलांग कल्याण अधिकारी (District Handicapped Welfare Officer)
  7. सहायक रोजगार अधिकारी (Assistant Employment Officer)
  8. सहायक चीनी आयुक्त (Assistant Sugar Commissioner)
  9. जिला कमांडेंट होमगार्ड (District Commandant Home Guard)
  10. उप सचिव माध्यमिक शिक्षा (Deputy Secretary Madhyamik Shiksha)
  11. सहायक आयुक्त (वाणिज्यिक कर) (Assistant Commissioner (Commercial Tax))
  12. वरिष्ठ व्याख्याता आहार (Senior Lecturer Diet)
  13. सहायक श्रम आयुक्त (Assistant Labor Commissioner)
  14. उप पुलिस अधीक्षक (Deputy Superintendent Of Police)
  15. सहकारी समितियों का सहायक रजिस्ट्रार (Assistant Registrar Cooperative Society)
  16. जेल अधीक्षक (Jail Superintendent)
  17. जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (District Programme Officer)
  18. नामित अधिकारी (Designated Officer)
  19. ब्लॉक विकास अधिकारी (Block Development Officer)
  20. उप संग्रही (Deputy Collector)
  21. जिला बागवानी अधिकारी (District Horticulture Officer)
  22. जिला आपूर्ति अधिकारी ग्रेड 2 (District Supply Officer Grade 2)
  23. सहायक निदेशक उद्योग (विपणन) (Assistant Director Industries (Marketing))
  24. जिला गन्ना अधिकारी (District Cane Officer)
  25. जिला लेख परीक्षा अधिकारी (राजस्व लेखा परीक्षा) (District Audit Officer (Revenue Audit))
  26. जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी (District Minority Welfare Officer)
  27. जिला समाज कल्याण अधिकारी (District Social Welfare Officer)
  28. जिला पंचायत राज्य अधिकारी (District Panchayat Raj Officer)
  29. सहायक क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी (Assistant Regional Transport Officer)
  30. यू.पी. कृषि सेवा समूह बी (विकास शाखा) (U.P Agriculture Service Group B (Development Branch))
  31. सहायक निदेशक उद्योग (हथकरघा) (Assistant Director Industries (Handloom))
  32. कार्यकारी अधिकारी ग्रेड 1/सहायक नगर आयुक्त (Executive Officer Grade 1/Assistant Nagar Ayukt)
  33. अप कारापाल (Deputy Jailor)
  34. जिला कल्याण अधिकारी (District Welfare Officer)
  35. जिला पंचायत अधिकारी (District Panchayat Officer)
  36. सहायक नियंत्रक विधिक मापन (ग्रेड 1) (Assistant Controller Legal Measurement (Grade 1))
  37. सहायक निदेशक समाज कल्याण विभाग (Assistant Director Social Welfare Department)
  38. जिला प्रोबेशन अधिकारी (District Probation Officer)
  39. जिला प्रशासनिक अधिकारी (District Administrative Officer)
  40. जिला सहकारी अधिकारी (District Cooperative Officer)
  41. जिला मत्स्य पालन अधिकारी (District Fisheries Officer)
  42. जिला पर्यटन अधिकारी (District Tourism Officer)
  43. जिला बागवानी अधिकारी (District Horticulture Officer)
  44. जिला आपूर्ति अधिकारी ग्रेड 2 (District Supply Officer Grade 2)
  45. सहायक निदेशक उद्योग (विपणन) (Assistant Director Industries (Marketing))
  46. सहायक क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी (Assistant Regional Transport Officer)
  47. जिला विकास अधिकारी (District Development Officer)
  48. जिला उद्योग अधिकारी (District Industries Officer)
  49. जिला शिक्षा अधिकारी (District Education Officer)
  50. जिला समाज कल्याण अधिकारी (District Social Welfare Officer)
  51. जिला पंचायत राज अधिकारी (District Panchayat Raj Officer)

तो अब पीसीएस अधिकारी बनते कैसे हैं इसके बारे में जानेंगे।

पीसीएस अधिकारी बनते कैसे हैं?

यदि बात की जाए पीसीएस अधिकारी बनने की तो पीसीएस अधिकारी बनने के लिए उम्मीदवार को राज्य संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा में भाग लेना होता है, इस परीक्षा को तीन चरणों में आयोजित किया जाता है।

  • प्रारंभिक परीक्षा (prelims)
  • मुख्य परीक्षा (mains)
  • साक्षात्कार (interview)

प्रारंभिक परीक्षा (prelims)

No.Question paperNumber of questionsMarksTime
01.सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 1 (वस्तुनिष्ठ)150200 अंक2 hr
02.सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 2 (वस्तुनिष्ठ)100200 अंक2 hr

पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा का आयोजन एक ही दिन किया जाता है, प्रिलिम्स की परीक्षा दे रहे उम्मीदवारों को दोनों ही प्रश्न पत्रों की परीक्षा एक ही दिन देनी होती है क्योंकि या परीक्षा एक ही दिन आयोजित की जाती है जो कि दो पालियों में होती है।

इन दोनों ही प्रश्न पत्रों में उम्मीदवार का उत्तरण होना अनिवार्य होता है, प्रथम पेपर के आधार पर मेरिट को सुनिश्चित किया जाता है, द्वितीय पेपर को सीसैट के नाम से जाना जाता है।

जिसमें उतरन होने के लिए आपको 33% मार्क्स लाना अनिवार्य है, इसके साथ ही गलत उत्तर देने पर 1/3 नकारात्मक अंक यानी कि माइनस मार्किंग भी की जाती है, यदि आप इसमें 33% अंकों से कम लाते हैं तो आप इसमें असफल घोषित कर दिए जाते हैं, साथ ही इसमें प्राप्त किए अंको को मेरिट में नहीं जोड़ा जाता है।

मुख्य परीक्षा (mains)

No.Compulsory subjectsMarksTime
01.सामान्य हिंदी150 अंक3 hr
02.निबंध150 अंक3 hr
03.सामान्य अध्ययन, प्रथम प्रश्न पत्र200 अंक3 hr
04.सामान्य अध्ययन, द्वितीय प्रश्न पत्र200 अंक3 hr
05.सामान्य अध्ययन, तृतीय प्रश्न पत्र200 अंक3 hr
06.सामान्य अध्ययन, चतुर्थ प्रश्न पत्र200 अंक3 hr
No.Optional subjectMarksTime
01.वैकल्पिक विषय – प्रथम प्रश्न पत्र200 अंक3 hr
02.वैकल्पिक विषय – द्वितीय प्रश्न पत्र200 अंक3 hr

यदि बात करें पीसीएस मुख्य परीक्षा की तो पीसीएस की मुख्य परीक्षा अर्थात मेन्स की परीक्षा को दो विषयों में बांटा गया है, एक अनिवार्य विषय और दूसरा वैकल्पिक विषय, मांस की परीक्षा में कुल 6 अनिवार्य विषय होते हैं और 2 वैकल्पिक विषय होते हैं, अनिवार्य विषय में से 4 पेपर 200-200 अंकों के और दो पेपर 150-150 अंकों के होते हैं।

इसके साथ ही आयोग द्वारा वैकल्पिक विषयों की एक सूची प्रदान की जाती है, उसे सूची में से कोई एक विषय चुना होता है, वैकल्पिक विषय में दो पेपर होते हैं, यह दोनों पेपर 200-200 अंकों के होते हैं।

साक्षात्कार (interview)

No.ExamMarks
01.साक्षात्कार100 अंक

उम्मीदवार साक्षात्कार की परीक्षा तभी दे सकते हैं, जब वे प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों में अच्छे अंकों से पास होते हैं, मुख्य परीक्षा में पास होने के बाद ही अभ्यर्थी को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है।

Also Read: घर बैठे पीसीएस की तैयारी कैसे करें? (PCS Exam Ki Taiyari Kaise Kare) 2023

तो अब पीसीएस परीक्षा की योग्यताएं क्या है इसके बारे में जानते हैं,

पीसीएस परीक्षा की योग्यताएं क्या है?

यदि बात की जाए पीसीएस परीक्षा की योग्यताओं की तो पीसीएस की परीक्षा में शामिल होने के लिए आप में कुछ योग्यताओं का होना आवश्यक है, जिसके बारे में हम निम्नलिखित रूप से जानेंगे।

  • पीसीएस परीक्षा में शामिल होने के लिए आपको अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करना आवश्यक है।
  • पीसीएस की परीक्षा में शामिल होने के लिए आपको किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से स्नातक की डिग्री लेनी अनिवार्य है।
  • पीसीएस की परीक्षा में शामिल होने के लिए आप डिस्टेंस एजुकेशन का भी माध्यम चुनकर स्नातक की डिग्री ले सकते हैं।
  • पीसीएस की परीक्षा में शामिल होने के लिए आपकी आयु न्यूनतम 21 वर्ष होनी आवश्यक है, इसके साथ ही इस परीक्षा के लिए आपकी अधिकतम आयु 40 वर्ष होने चाहिए।

तो अब हम पीसीएस की परीक्षा कितनी बार दे सकते हैं इसके बारे में जानेंगे।

पीसीएस की परीक्षा कितनी बार दे सकते हैं?

यदि बात करें पीसीएस की परीक्षा की तो सामान्य तौर पर आप तकरीबन 20 बार तक पीसीएस का एग्जाम दे सकते है, इसका मतलब यह है कि पीसीएस की परीक्षा में आप 20 बार तक शामिल हो सकते हैं, परंतु यह आपके श्रेणियों पर भी निर्भर करता है कि आप कितनी बार पीसीएस का एग्जाम दे सकते हैं।

यदि आप सामान्य वर्ग के उम्मीदवार है तो आप 20 बार तक पीसीएस के एग्जाम में शामिल हो सकते हैं, वहीं यदि आप आरक्षित वर्ग से आते हैं तो आपको 25 बार तक पीसीएस के एग्जाम में शामिल होने का मौका दिया जाता है, इसके साथ ही जो उम्मीदवार दिव्यांग है उनको 40 बार तक पीसीएस का एग्जाम देने का मौक़ा प्रदान किया जाता है।

साथ ही साथ पीसीएस की सभी प्रकार की श्रेणियों में अलग-अलग परीक्षा में भाग लेने के लिए अवसर प्रदान किए जाते हैं।

तो अब हम पीसीएस अधिकारी की सैलरी कितनी होती है इसके बारे में जानते हैं।

पीसीएस अधिकारी की सैलरी कितनी होती है?

यदि बात की जाए पीसीएस अधिकारी की सैलरी की तो पीसीएस अधिकारी की सैलरी का निर्धारण राज्य सरकार द्वारा किया जाता है, इसके साथ ही सभी राज्यों का वेतन अलग-अलग होता है।

यदि उनकी शुरुआती सैलरी की बात की जाए तो पीसीएस की शुरुआती सैलरी ₹56100-₹132000 तक की होती है, साथ ही यदि पीसीएस की अधिकतम सैलरी की बात करें ₹67700-₹160000 तक की होती है जिनमें उनका ग्रेड पे भी शामिल होता है, उन्हें 5400 का ग्रेड पे भी प्रतिमा दिया जाता है।

तो अब हम पीसीएस ऑफीसर का कार्य क्या होता है इसके बारे में जानेंगे।

पीसीएस ऑफीसर का कार्य क्या होता है?

यदि बात की जाए पीसीएस ऑफीसर के कार्य की तो एक पीसीएस ऑफीसर के रूप में आपका चयन संस्थान के प्रमुख के रूप में किया जाता है, उसे संस्थान में हो रहे कार्यों के प्रति एक पीसीएस ऑफीसर का उत्तरदायित्व होता है,

पीसीएस के अंतर्गत 50 से भी अधिक पद शामिल है, कई सारे पदों के कई तरह के कार्य होते हैं, उन पदों पर रहकर एक पीसीएस अधिकारी विभाग द्वारा निर्धारित किए गए कार्यों को सही तरीके से नियंत्रित करवाता है, या जिम्मेदारी उसकी होती है।

तो अब हम पीसीएस की परीक्षा के लिए आयु कितनी होनी चाहिए इसके बारे में जानेंगे।

पीसीएस की परीक्षा के लिए आयु कितनी होनी चाहिए?

यदि बात करें पीसीएस की परीक्षा के लिए आयु की तो पीसीएस की परीक्षा में शामिल होने के लिए आपकी आयु न्यूनतम 21 वर्ष तक की होनी आवश्यक है, इसके साथ ही पीसीएस की परीक्षा के लिए अधिकतम आयु 40 वर्ष निर्धारित की गई है, साथ ही आरक्षित वर्ग में आपको 3 वर्ष और 5 वर्ष की छूट दी जाती है,

यदि आप सामान्य वर्ग में आते हैं तो आपकी न्यूनतम आयु 30 वर्ष की होनी चाहिए, वही अधिकतम आयु 40 वर्ष तक की होनी चाहिए, इसके बाद में आप पीसीएस अधिकारी बनने के लिए योग्य है।

इसके अलावा यदि आप ओबीसी वर्ग से हैं तो आपको 3 वर्ष की छूट दी जाती है यानी कि आपकी न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 43 वर्ष तक की होती है।

इसके अलावा यदि आप एससी एसटी वर्ग से आते हैं तो आपको पीसीएस की परीक्षा में 5 साल का छठ दिया जाता है, यानी कि आपकी न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 45 वर्ष तक की होती है।

Also Read: लोअर पीसीएस में कितने पेपर होते हैं (Lower PCS Me Kitne Paper Hote Hai)

FAQs | पीसीएस में कौन कौन सी पोस्ट होती है (Pcs Mein Kon Kon Si Post Hoti Hai) |

तो यदि आप पीसीएस में कौन-कौन सी पोस्ट होती है, इसके अलावा भी पीसीएस की अन्य जानकारी को प्राप्त करने में रुचि रखते हैं तो हमारे साथ निम्नलिखित प्रश्नों और उनके उत्तरों को जरूर पढ़ें।

#1. पीसीएस की पोस्ट क्या होती है?

यदि बात की जाए पीसीएस की पोस्ट की तो पीसीएस के कुल 56 पद होते हैं, पीसीएस अधिकारी राज्य स्तर उपमंडल जिला और मंडल पर विभिन्न पदों पर रह सकता है।

#2. पीसीएस में सबसे बड़ी पोस्ट कौन सी होती है?

यदि बात की जाए पीसीएस में सबसे बड़ी पोस्ट की तो पीसीएस की सबसे बड़ी पोस्ट एसडीएम यानी की सब डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट की होती है, SDM का पद राज्य प्रशासनिक सेवा में वरीयता में सबसे अधिक है।

#3. पीसीएस का पेपर कितनी बार दे सकते हैं?

यदि बात की जाए पीसीएस के पेपर की तो पीसीएस का पेपर सामान्य रूप से 20 बार तक दिया जा सकता है, इसके अलावा यदि आप आरक्षित वर्ग से आते हैं तो आप पीसीएस की परीक्षा में 25 बार तक शामिल हो सकते हैं और यदि आप विकलांग वर्ग से हैं तो आपको 40 बार तक पीसीएस की परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया जाता है।

#4. पीसीएस का वेतन कितना होता है?

यदि बात की जाए पीसीएस के वेतन की तो एक पीसीएस अधिकारी को शुरुआत में 9000 से लेकर 14500 प्रति माह का वेतन दिया जाता है। जिसके बाद कुछ समय में उसे वेतन में संशोधन किया जाता है।

निष्कर्ष | पीसीएस में कौन कौन सी पोस्ट होती है (Pcs Mein Kon Kon Si Post Hoti Hai)

आज के इस आर्टिकल में पीसीएस में कौन-कौन सी पोस्ट होती है हमने इसके बारे में जाना, इसके साथ ही इससे जुड़ी गई अन्य बातों के बारे में भी चर्चा की।

इस आर्टिकल में हमने पीसीएस अधिकारी बनते कैसे हैं इसके बारे में जाना, साथ ही पीसीएस परीक्षा की योग्यताएं क्या है, इसके बारे में भी जाना है।

इसके अलावा हमने पीसीएस अधिकारी की सैलरी कितनी होती है और पीसीएस ऑफीसर का कार्य क्या होता है और साथ ही हमने पीसीएस की परीक्षा कितनी बार दे सकते हैं और पीसीएस की परीक्षा के लिए आयु कितनी होनी चाहिए, इसके बारे में भी जाना।

आशा है कि आज का यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा, यदि इस आर्टिकल से संबंधित आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं, हम आपको जल्द से जल्द जवाब देने की कोशिश करेंगे।

Telegram Group (Join Now) Join Now
WhatsApp channel (Join Now) Join Now

Leave a Comment