प्राइमरी टीचर बनने के लिए क्या करें? (Primary Teacher Kaise Bane)

Telegram Group (Join Now) Join Now
WhatsApp channel (Join Now) Join Now

प्राइमरी टीचर बनने के लिए क्या करें | Primary Teacher Kaise Bane| प्राइमरी टीचर बनने के लिए आवश्यक क्वालिफिकेशन | प्राइमरी टीचर बनने के लिए टॉप कोर्सेज | प्राइमरी टीचर किसे कहते है

किसी भी व्यक्ति के सफलता के पीछे शिक्षक का बहुत बड़ा रोल होता है, क्योंकि शिक्षक छात्रों को एक अच्छा मार्ग दिखाता है, जिससे छात्र अपने जीवन में अपार बुलंदियों तक पहुंच सके।

शिक्षक छात्रों के अंदर छुपी हुई प्रतिभा को निखारने का काम करते हैं और उनका सही मार्गदर्शन करते हैं, जिससे छात्र अपने जीवन में सफलता प्राप्त करके अपने देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दे सकें।

तो यदि आप भी शिक्षक बनने के इच्छुक हैं और प्राइमरी टीचर बनकर छात्रों को अपना ज्ञान बाॅटना चाहते हैं, तो आज आप बिल्कुल सही आर्टिकल पर आए हैं।

आज इस आर्टिकल में हम आपको प्राइमरी टीचर बनने के लिए आवश्यक क्वालिफिकेशन के बारे में बताएंगे, इसके अलावा हम आपको प्राइमरी टीचर बनने के लिए टॉप कोर्सेज कौनकौन से हैं, इसके बारे में भी जानकारी देंगे।

तो आपसे गुजारिश है, कि आप इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िए, तभी आपको प्राइमरी टीचर बनने के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से मिलेगी।

Content Headings show

प्राइमरी टीचर किसे कहते है?

प्राइमरी टीचर वह शिक्षक होता है, जो कक्षा 1 से कक्षा 5 तक के बच्चों को शिक्षा देता है और बच्चों की देखभाल करता है, ये शिक्षक बच्चों के अंदर छुपी हुई प्रतिभा को पहचानने का प्रयत्न करते हैं और उसी आधार पर बच्चों का सही मार्गदर्शन करते हैं।

ये शिक्षक बच्चों की शिक्षा के अलावा उन्हें खेल कूद, शारीरिक व्यायाम जैसे अन्य गतिविधि भी कराते हैं, जिससे पढ़ाई के साथ – साथ बच्चों का शारीरिक विकास भी हो सके।

प्राइमरी टीचर बच्चों के जीवन में एक सकारात्मक प्रभाव डालते हैं, जो भविष्य में उन्हें सफल होने में सहायता करता है, जिसके कारण वह अपने जीवन में एक बेहतर इंसान बन सकते हैं।

प्राइमरी टीचर बनने के लिए क्या करें? (Primary Teacher Kaise Bane)

प्राइमरी टीचर बनने के लिए आवश्यक क्वालिफिकेशन क्या है?

यदि आप प्राइमरी टीचर बनना चाहते हैं, तो आपको नीचे बताए गए Qualification को पूरा करना होगा।

  • आप किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से (10+2) की परीक्षा पास किए हो।
  • 12वीं कक्षा में आपके 50% से अधिक अंक होने चाहिए।
  • आप किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से ग्रेजुएशन पूरा किए हों।
  • ग्रेजुएशन में आपके 50% से अधिक अंक होने चाहिए।
  • आप सरकारी मान्यता प्राप्त इंस्टिट्यूट से प्राथमिक शिक्षक की ट्रेनिंग लिए हों।
  • आप डीएलएड अथवा बीटीसी कोर्स किए हो।

Also Read: सफल एलआईसी एजेंट कैसे बने। ऑनलाइन अप्लाई करें।

प्राइमरी टीचर बनने के लिए कितनी योग्यता होनी चाहिए?

यदि आप प्राइमरी टीचर बनने के लिए इच्छुक है, तो आपको नीचे बताए गए योग्यता के बारे में जानकारी होनी चाहिए।

  • प्राइमरी टीचर का फॉर्म आवेदन करने के लिए आपकी उम्र 18 वर्ष से अधिक और 42 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद आपको टीचर ट्रेनिंग कोर्स करना अनिवार्य है।
  • आपको राज्य सरकार द्वारा आयोजित TET परीक्षा को पास करना होगा।
  • आप केंद्रीय सरकार द्वारा आयोजित CTET परीक्षा में भी भाग ले सकते हैं।

महत्वपूर्ण बिंदु: सभी राज्य सरकार अपने-अपने राज्य में TET की परीक्षा कराती है, उदाहरण के लिए, यदि आप उत्तर प्रदेश में रहते हैं, तो आप UPTET की परीक्षा दे सकते हैं और इसी तरह से यदि आप झारखंड में रहते हैं, तो आप JTET की परीक्षा दे सकते हैं।

प्राइमरी टीचर बनने के लिए टॉप कोर्सेज कौन से हैं?

प्राइमरी टीचर बनने के लिए बहुत सारे कोर्स मौजूद है, जिनमें से कुछ प्रमुख कोर्स के बारे में हमने इस आर्टिकल में जानकारी दी है, जिसे आप अपने आवश्यकता अनुसार कर सकते हैं।

#1. डीएलएड (D.EI.Ed):

डीएलएड का फुल फॉर्म डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन होता है, यह 2 वर्ष का एक डिप्लोमा कोर्स है, जिसमें आपको प्राइमरी टीचर बनने के लिए आवश्यक सभी व्यवहारिक कौशल के बारे में सिखाया जाता है। इस कोर्स को कुल 4 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है।

पहले सेमेस्टर में आपको मनोविज्ञान और बाल विकास के बारे में पढ़ाया जाता है, तथा दूसरे सेमेस्टर के अंतर्गत आपको गणित और भाषा कला के बारे में सिखाया जाता है तथा तीसरे सेमेस्टर में आपको विज्ञान और सामाजिक अध्ययन के बारे में जानकारी दी जाती है और चतुर्थ सेमेस्टर में छात्रों के शारीरिक शिक्षा और संगीत पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।

#2. NTET

NTET का फुल फॉर्म नेशनल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट होता है, इस परीक्षा को राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित किया जाता है, जिसमें भाग लेकर आप प्राइमरी स्तर के टीचर बनने के लिए आवश्यक योग्यता को प्राप्त कर सकते हैं।

#3. DED

DED का फुल फॉर्म डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन होता है, इस डिप्लोमा कोर्स में आपको प्रारंभिक स्तर के बच्चों को शिक्षा देने के लिए तैयार किया जाता है, यह कोर्स भी 2 साल का होता है, जिसमें आपको एजुकेशनल टेक्नोलॉजी और चाइल्ड साइकोलॉजी के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाती है।

इस कोर्स को करने के बाद आप प्रैक्टिकल स्किल प्राप्त कर सकते हैं और एक बेहतर अनुभव प्राप्त कर सकते हैं, जो आपको एक अच्छा अध्यापक बनने में कारगर साबित हो सकता है।

#4. TTC

TTC का फुल फॉर्म टीचर ट्रेनिंग सर्टिफिकेट होता है, इस कोर्स को आप 12वीं पास करने के पश्चात भी कर सकते हैं। यह कोर्स उन छात्रों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है, जिनके पास बड़े कोर्स करने के लिए बहुत अधिक पैसे नहीं है अथवा वह बड़े कोर्स करने में असमर्थ है।

ऐसे में इस कोर्स को आप आसानी के साथ कर सकते हैं और प्राथमिक कक्षाओं का अध्यापक बन सकते हैं, इस कोर्स की सबसे अच्छी बात है, कि इसे आप बहुत ही कम बजट में कर सकते हैं।

#5. ETT

ETE (Elementary Teacher Training) जिसे हिंदी में प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षण भी कहते हैं, इस कोर्स को करने के पश्चात आप प्राथमिक शिक्षक बन सकते हैं।

इस कोर्स को भी 12वीं पास छात्र कर सकते हैं, इस कोर्स में आपको बच्चों को पढ़ाने के तरीके एवं उन्हें बेहतर शिक्षा देने के बारे में जानकारी दी जाती है।

#6. JBT

JBT का फुल फॉर्म जूनियर बेसिक ट्रेनिंग है, यह बहुत ही पॉपुलर कोर्स है और इस कोर्स को महिलाओं के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है, क्योंकि इस कोर्स को रेगुलर मोड अथवा डिस्टेंस मोड में किया जा सकता हैं।

इस कोर्स को उत्तर प्रदेश तथा बिहार में DELED के नाम से भी जाना जाता है और यदि आप इस कोर्स को पूरा कर लेते हैं, तो इसके पश्चात आप बीएड अथवा एमएड भी कर सकते हैं।

प्राइमरी टीचर की सैलरी कितनी होती है?

प्राइमरी टीचर की सैलरी अलग-अलग राज्यों में भिन्न-भिन्न होती है, इसलिए यदि आप अपने राज्य से संबंधित टीचर की सैलरी के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप अपने राज्य सरकार की ऑफिशल वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं और वहां पर टीचर की सैलरी के बारे में जान सकते हैं।

उदाहरण के लिए, यदि आप उत्तर प्रदेश में रहते हैं, तो यहां पर एक प्राइमरी टीचर की सैलरी 9300 से लेकर 35400 रुपए प्रति महीना है, इसके अलावा उत्तर प्रदेश में सभी टीचर को कई प्रकार के भत्ते भी दिए जाते हैं, जिससे उन्हें महीने में बहुत अच्छी सैलरी मिल जाती है।

प्राइमरी टीचर बनने के लिए 12वी के बाद क्या करें?

यदि आप 12वीं पास करने के बाद प्राइमरी टीचर बनना चाहते हैं, तो आप DELED अथवा BTC कोर्स कर सकते हैं, इन दोनों कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको Pre DELED अथवा Pre BTC का एग्जाम देना होगा तथा कभी-कभी मेरिट लिस्ट के आधार पर भी सेलेक्शन हो जाता है।

भारत में नई शिक्षा नीति लागू होने के बाद से प्राइमरी टीचर के पद पर निकली वैकेंसी पर आवेदन करने के लिए आपको TET अथवा CTET की परीक्षा क्वालीफाई करना होगा।

TET और CTET परीक्षा को दो भागों में विभाजित किया गया है, यदि आप कक्षा 1 से लेकर कक्षा 5 तक के छात्रों को पढ़ने में इच्छुक है, तो आपको पेपर 1 की तैयारी करनी चाहिए, इसके अलावा यदि आप कक्षा 1 से कक्षा 8 तक के विद्यार्थियों को पढ़ाना चाहते हैं, तो आपको पेपर 2 की तैयारी करनी होगी।

इसके अतिरिक्त आप 12वीं पास करने के बाद प्राइवेट टीचर बनने के लिए TGT (ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर) तथा PGT (पोस्ट ग्रैजुएट टीचर) की भी तैयारी कर सकते हैं।

जो भी व्यक्ति 9वीं से लेकर 10वीं तक के छात्रों को पढ़ाना चाहता है, वह TGT कर सकता है, लेकिन यदि आप 12वीं तक के छात्रों को पढ़ाना चाहते हैं, तो आपको PGT करना होगा।

Also Read: 2023 में दैनिक जागरण पत्रकार कैसे बने (Dainik Jagran Patrakar Kaise Bane)

TGT (प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक) कैसे बने?

यदि आप 12वीं के बाद प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक बनना चाहते हैं, तो आपको नीचे बताएं गए योग्यताओं को ध्यान में रखना होगा।

  • सर्वप्रथम आपको 12वीं पास होने के बाद किसी भी स्ट्रीम से अपना ग्रेजुएशन पूरा करना होगा।
  • उसके पश्चात आपको B.Ed करना होगा।
  • B.Ed करने के बाद आपको TET अथवा CTET की परीक्षा को क्वालीफाई करना होगा।
  • इसको करने के पश्चात आप सेकंड ग्रेड के टीचर बनने के योग्य हो जाएंगे।

महत्वपूर्ण बिंदु: कुछ राज्यों में टीजीटी बनने के लिए प्रशिक्षण लेना अनिवार्य होता है, प्रशिक्षण के माध्यम से आपको क्लास रूप में बेहतर शिक्षा देने के बारे में प्रेरित किया जाता है।

PGT कैसे बने?

PGT करने वाले व्यक्ति 12वीं कक्षा तक के छात्रों को शिक्षा प्रदान करते हैं और यदि आप भी PGT बनने में रूचि रखते हैं, तो आपको नीचे दिए गए बातों को ध्यान में रखना आवश्यक है।

  • सबसे पहले आपको 12वीं की परीक्षा में अच्छा नंबर लाना होगा।
  • उसके पश्चात आपको मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पूरा करना होगा।
  • अब आपको पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी करनी होगी।
  • उसके बाद आपको BED करना अनिवार्य है, क्योंकि पीजीटी परीक्षा देने के लिए इसे बहुत अधिक महत्व दिया जाता है।
  • इसके पश्चात आपको सरकार द्वारा आयोजित परीक्षा में भाग लेना होगा और अच्छा नंबर लाना होगा।
  • यदि आप अच्छा नंबर लाते हैं और आपका सेलेक्शन होता है, तो आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा।
  • उसके पश्चात एक फाइनल मेरिट लिस्ट तैयार होगी, जिसमें यदि आपका चयन होता है, तो आप पीजीटी बन सकते हैं।

FAQS – प्राइमरी टीचर बनने से संबंधित सवाल जवाब

यहां प्राइमरी टीचर से संबंधित कुछ अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न दिए गए हैं।

#1. क्या b.ed वाले प्राइमरी टीचर बन सकते हैं?

कुछ समय पहले तक B.Ed करने वाले लोग प्राइमरी टीचर बनने के योग्य थे, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के नए फैसले के अनुसार B.Ed करने वाले लोग अब प्राइमरी टीचर नहीं बन सकते हैं।

#2. शिक्षक बनने के लिए कौन सी डिग्री चाहिए?

शिक्षक बनने के लिए आप DELED अथवा BTC कोर्स कर सकते हैं, इसके पश्चात आप सरकार द्वारा आयोजित परीक्षा में भाग ले सकते हैं और बेहतर अंक हासिल करके शिक्षक बन सकते हैं।

#3. टीचर बनने की उम्र कितनी होनी चाहिए?

यदि आप प्राइमरी स्तर पर टीचर बनना चाहते हैं, तो आपकी उम्र 18 वर्ष से 35 वर्ष के बीच में होनी चाहिए, इसके अलावा आप टीजीटी और पीजीटी ग्रेड के टीचर बनना चाहते हैं, तो आपकी उम्र 21 वर्ष से 40 वर्ष के बीच में होनी चाहिए।

#4. शिक्षक की नौकरी कितने साल की होती है?

आमतौर पर किसी भी शिक्षक की नौकरी अधिकतम 60 वर्ष तक रहती है, इसके अलावा कोई शिक्षक अपनी नौकरी से अधिक समय तक भी कार्य कर सकता है, लेकिन इसके लिए उसे बहुत सारे मापदंडों का पालन करना होगा।

#5. 1 साल का BED कैसे करें?

यदि आप 1 साल का B.Ed करना चाहते हैं, तो आपको किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएट करना होगा और उन दोनों में 50% से अधिक नंबर लाने होंगे, इसके बाद आप 1 साल का बीएड कर सकते हैं।

निष्कर्ष – प्राइमरी टीचर बनने के लिए क्या करें?

दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको प्राइमरी टीचर कौन होता है तथा प्राइमरी टीचर बनने के लिए कितनी योग्यता आवश्यक है, इन सब चीजों के बारे में विस्तार से जानकारी दी है।

वैसे तो प्राइमरी टीचर बनने के लिए डिग्री की आवश्यकता होती है, लेकिन डिग्री के साथ-साथ आपका कम्युनिकेशन स्किल भी बेहतर होना चाहिए, क्योंकि जब आप परीक्षा को क्वालीफाई करेंगे, तो उसके पश्चात आपको इंटरव्यू देना होगा।

इसीलिए पढ़ाई के साथ-साथ आपको अपनी पर्सनालिटी डेवलपमेंट पर भी ध्यान देना चाहिए, जिससे आप साक्षात्कार के दौरान अच्छे ढंग से अपनी बात को रख पाएंगे और अन्य छात्रों की अपेक्षा बेहतर परिणाम हासिल कर सकेंगे।

उम्मीद करते हैं, आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा और प्राइवेट टीचर बनने से संबंधित आपके मन में जितने भी सवाल होंगे, आपको उनका जवाब मिला होगा।

Telegram Group (Join Now) Join Now
WhatsApp channel (Join Now) Join Now

Leave a Comment